Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. Aarti Dogra ने साबित किया, कद नहीं इरादे बनाते हैं इंसान को बड़ा - Nek In India

Aarti Dogra ने साबित किया, कद नहीं इरादे बनाते हैं इंसान को बड़ा

नेक इरादे और बुलंद हौंसलों का कोई कद नहीं होता। कहते हैं, अगर हौंसलें हों तो इंसान ऊंची से ऊंची उड़ान भर सकता है। इसकी एक मिसाल हैं IAS Officer Aarti Dogra, जिन्होनें अपनी काबिलियत का परचम इतना लहराया है कि वो काफ़ी लोकप्रिय हो गयी हैं| Aarti की height 3.50 फुट है, लेकिन उन्होनें देशभर की Women IAS के admininstrative category में मिसाल कायम की है| उन्होंने समाज में बदलाव लाने के लिए बहुत से model भी पेश किए हैं, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी खूब पसंद आए हैं|

IAS Officer Aarti Dogra
Photo : internet

Aarti का जन्म देहरादून में हुआ और उन्होंने ब्राइटलैंड स्कूल से पढ़ाई की है। आरती राजस्थान कैडर की 2006 बैच की IAS हैं| उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया और उसके बाद वो पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए देहरादून चली गयीं| उन्होंने पहले ही attempt में देश की सबसे बड़ी परीक्षा पास की और वो IAS बन गयीं| Aarti Dogra को डिस्कॉम की मैनेजिंग डायरेक्टर से अजमेर की DM की जिम्मादारी सौंपी गई। उन्होंने खुले में शौच से मुक्ति के लिए शुरू किए अपने स्वच्छता मॉडल Banko Bikano पर PMO से खूब तारीफें बटोरी थीं| Aarti अपने माँ-बाप, कर्नल राजेन्द्र डोगरा और कुमकुम डोगरा की इकलौती औलाद हैं| उनकी मां एक प्राइवेट स्कूल में headmistress रह चुकी हैं|

IAS Officer Aarti Dogra
Photo : internet

दून में पढ़ाई के दौरान उनकी मुलाकात IAS और Current Principal Secretary मनीषा पंवार से हुई। मनीषा ने आरती का हौंसला बढ़ाया और आरती दिन-रात मेहनत करी और अपना मुक़ाम हासिल किया।

Aarti Dogra
Photo : internet

Aarti ने बताया कि उनके जन्म के बाद से ही लोग उनकी शारीरिक बनावट को लेकर सवाल उठाते थे। इसके बावज़ूद उनके माता पिता ने तय किया कि वो अपनी बेटी को ordinary स्कूल में बाकी बच्चों के साथ ही पढ़ाएंगे। उन्होंने बताया कि लोग उनकी मां से पूछते थे कि उनका अगला बच्चा कब होगा। उनके माता-पिता हमेशा यही कहते थे कि बस एक ही बच्चा काफी है। उन्होंने कहा कि उनके माता पिता ने उनका बहुत साथ दिया है।

IAS Officer Aarti Dogra
Photo : internet

जब आरती बीकानेर में थी, तब उन्होंने Banko Bikano campaign की शुरुआत की। इस campaign से उन्होंने लोगों को defecation free बनने के लिए प्रेरित किया। गांव में Pucca toilet बनवाए। जिसकी monitoring मोबाइल साफ्टवेयर से की जाती है। ये campaign 195 ग्राम पंचायतों में successfully चलाया गया। इसके बाद Banko Bikano को आस पास के जिलों ने भी अपनाया| साथ ही, Aarti Dogra को national और state level पर कई awards भी मिले हैं| बीकानेर में Aarti ने कई अनाथ बच्चों की हैल्प भी की है।

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

Facebook Comments
(Visited 83 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: