Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. हियरिंग इमपेयर्ड Archana का 8000km का संदेश-भरा सफ़र - Nek In India

हियरिंग इमपेयर्ड Archana का 8000km का संदेश-भरा सफ़र

आजकल बाइक और कार पर बैठकर लंबी दूरी की यात्रा करना बहुत आम होता जा रहा है। कुछ लोग इसे शौकिया तौर पर करते हैं।

कुछ लोगों के लिए जुनून होता है, तो वहीं कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो ऐसी लंबी, कठिन और दुर्गम यात्रा पर निकलते हैं समाज को एक संदेश देने के लिए। यह संदेश बदलाव का हो सकता है, यह संदेश किसी तरह की प्रेरणा का हो सकता है, या फिर ये संदेश कुछ ऐसा हो सकता है जो किसी दूसरे माध्यम से दे पाना संभव ना हो।

Archana Timmaraju
Photo : india.com

ये भी पढ़ें- Hiremath ने दोनों पैर खोने के बाद भी नहीं छोड़ा योगा पढ़ाना

ऐसा ही एक संदेश देने के लिए अपनी बाइक पर बैठकर आंध्र प्रदेश से 8300 किलोमीटर की लंबी राइड पर लद्दाख जाने के लिए निकली Archana Timmaraju। Archana की उम्र 33 साल है और उनके बारे में खास बात यह है कि सुनने में तकलीफ महसूस होती है, या यूं कह सकते हैं की वो साफ-साफ सुन नहीं पाती। अर्चना आदित्य इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों को आर्ट्स पढ़ाती है और बाइक रीडिंग की शुरुआत उनके लिए हुई थी 21 वर्ष की उम्र में।

Archana Timmaraju
Photo : twitter.com

8300 किलोमीटर लंबे सफर में Archana के साथ थे डेनियल सुंदरम जो की उनके ही स्कूल में ज्योग्राफी के टीचर हैं। Archana और डेनियल का यह सफर शुरू हुआ 29 अप्रैल को और यह सफर एक सफल विराम पर आया 29 मई को। जहां Archana ने रॉयल इनफील्ड बाइक की सवारी की वहीं दूसरी तरफ डेनियल KTM बाइक के साथ चल रहे थे। अर्चना के सफर के बारे में पूछने पर उनकी मां महालक्ष्मी कहती है कि वह अपनी बेटी की उपलब्धि से बहुत ही खुश है बहुत ही ज्यादा प्रभावित हैं।

Archana Timmaraju
Photo : deccanchronicle.com

ये भी पढ़ें- Lorry driver के बेटे ने दोनों पैर खोने के बाद भी किया अपना IIT का सपना पूरा

इतना ही नहीं Archana Timmaraju ने अपने जैसे दूसरे लोग जिन्हें किसी न किसी प्रकार की डिसएबिलिटी है उनके लिए साइलेंट एक्सपेडिसन नाम से एक बाइक कम्युनिटी भी स्थापित किया है, जिसके तहत वह ऐसे लोगों को राइडिंग करने के लिए और भी ज्यादा बढ़ावा देती है और इंस्पायर करती हैं जो किसी ना किसी तरह की डिसएबिलिटी के साथ जी रहे हैं। Archana के इस सफर पर जाने के पीछे एक बहुत बड़ी वजह यह भी कि वह महिलाओं को राइड करने के लिए प्रेरित करना चाहती थी, उनको राइड करने का न्योता देना चाहती थी क्योंकि उनका मानना है कि हर महिला को कुछ वक्त के बाद ऐसे एक नए ऍडवेनचर पर जाना चाहिए क्योंकि इससे वह अपने आप से और ज्यादा जुड़ा हुआ महसूस कर सकती हैं और साथ ही साथ अपने आप को आजाद भी महसूस कर पाती हैं।

Archana Timmaraju
Photo : indianexpress.com

आपका सफर सफलता पूर्वक पूरा करने के लिए नेक इन इंडिया की तरफ से आपको बहुत-बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएँ Archana।

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

(Visited 52 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: