Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. यात्रियों की सुविधा के लिए Airport पर शुरू हुई एक नयी सर्विस - Nek In India

यात्रियों की सुविधा के लिए Airport पर शुरू हुई एक नयी सर्विस

हवाई यात्रा करने वाले लोगों के लिए बड़ी खुशख़बरी है| अब Airport पर लोगों का सामान सिर्फ़ 45 सेकंड में चेक-इन हो जाएगा। इससे किसी को भी लंबे समय तक लाइन में लगकर के समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा। हालांकि अभी इसकी शुरुआत देश में केवल एक ही International Airport पर हुई है, लेकिन जल्द ही इस सिस्टम के, सभी प्रमुख हवाई अड्डों पर लगने की संभावना है।

Bengaluru Airport
Photo : cnbctv18.com

बंगलूरू के Kempegowda International Airport पर इस सुविधा को शुरू किया गया है। बंगलूरू इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (बीआईएएल) ने फिलहाल 16 fully automatic self bag drop machines को लगाया है। इस पूरी कवायद के पीछे मकसद बैगेज ट्रांसेक्शन के प्रोसेस कम समय में पूरा करना और लंबी लाइन को कम करने का है।

इस सुविधा का लाभ फिलहाल केवल एयर एशिया और स्पाइसजेट के यात्री उठा पाएंगे। हालांकि कुछ समय बाद इसे सभी एयरलाइंस में लागू कर दिया जाएगा।

Bengaluru Airport
Photo : devdiscourse.com

यात्रियों को सबसे पहले सेल्फ चेक-इन कियोस्क से अपना बोर्डिंग पास और बैगेज टैग को प्रिंट करना होगा। टैग होने के बाद यात्रियों को बैग ड्रॉप मशीन पर बोर्डिंग पास को स्कैन करना होगा। इसके बाद मशीन सभी बैग का वजन और साइज मापेगी। फिर इसके बाद लोगों का सामान बैगेज हैंडलिंग सिस्टम में चढ़ा दिया जाएगा।

अगर सामान का वजन एयरलाइन द्वारा तय की गई लिमिट से ज्यादा होगा तो फिर यात्रियों को हाईब्रिड काउंटर पर भेज दिया जाएगा। वहां पर वो extra money देकर प्रोसेस को पूरा कर सकते हैं।

Bengaluru Airport
Photo : thehindu.com

इसके साथ ही अगले साल से बंगलूरू Airport पर पेपरलेस बोर्डिंग प्रोसेस भी शुरू हो जाएगा| इसके लिए बॉयोमेट्रिक तरीके से चेहरे की पहचान की जाएगी। इसकी मदद से भी यात्री कम समय में हवाई जहाज में चढ़ सकेंगे।

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

Facebook Comments
(Visited 30 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: