Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. इस Mumbai couple ने किया Mahim beach को फिर से ज़िंदा - Nek In India

इस Mumbai couple ने किया Mahim beach को फिर से ज़िंदा

अगले महीने तक, Mahim beach को साफ और plastic free रखने के लिए, ये Mumbai couple अपने मिशन के 50वें हफ़्ते तक पहुंच जाएगा|

ये हफ़्ता उनका 46वां था और अब तक उन्होंने 650 टन कचरा इकट्ठा किया है, जिसमें लगभग 20 टन कचरा हर weekend में collect किया जा रहा है।

World Environment Day 2018 पर UN Environment Head, Erik Solheim ने भी उनके प्रयासों को सम्मानित किया था।

Indranil Sengupta और Rabia Tewari ने personal setback मिलने के बाद कचरा इकट्ठा करना शुरू किया।

Mumbai couple
Photo : TBI.com

ये पिछले साल जुलाई-अगस्त की बात है, जब वो समुद्र के सामने वाले अपार्टमेंट में शिफ्ट हो गए थे, लेकिन उनकी सपने वाली सुबह कचरे के ढेर से ढकी हुई थी। Beach की pitiable condition ने उन्हें दुखी कर दिया|

Rabia ने देखा कि strewn plastic रेत में embed हो रही है, इसलिए उन्होनें BMC helpline पर डायल किया|

Indranil ने कहा कि हर बार जब भी वो उन्हें बुलाते, तो वो कहते थे कि वो कचरा लेने के लिए किसी को भेज रहे हैं, लेकिन कोई नहीं आता था| इसलिए उन्होंने इस मामले को अपने हाथों में लेने का फैसला किया।

Mumbai couple
Photo : swachhindia.ndtv.com

Beach-cleanup poster boy Afroz Shah से प्रेरित होकर उन्होंने दोनों हाथ के दस्ताने पहने और बीच पर जाकर उसकी सफ़ाई शुरू कर दी| उस दिन उनके साथ 2 volunteers भी सफ़ाई करने आए|

वहाँ से इसकी शुरूवात हुई| तब से ये Mumbai couple, जिनकी शादी को सात साल हो गये हैं, हर weekend पर सुबह 8 बजे beach पर जाते हैं और दो घंटे तक सफ़ाई करते हैं| Rabia बताती हैं कि ये उन दोनों के लिए एक ritual है। उन्हें औसतन 25-30 volunteers मिल जाते हैं।

Indranil and Rabia
Photo : hellomumbainews.com

Last Sunday, एक स्कूल के 7-10क्लास के स्टूडेंट्स ने उन्हें हिंदुजा हॉस्पिटल से महिम दरगाह की तरफ़ सफ़ाई करने में मदद की।

यह Mumbai couple सिर्फ waste को साफ नहीं करता है, बल्कि वो ये भी ensure करते हैं कि रेत कचरे के साथ ना आए|

Indranil ने कहा कि BMC कचरे को लेने के लिए rakes का इस्तेमाल करता है, लेकिन वो प्लास्टिक के कचरे से ज़्यादा रेत इकट्ठा करते हैं और बड़ी मात्रा में रेत (Deonar) लैंडफिल में जाती है। इस scenario से बचने के लिए, BMC या तो कचरे को मैन्युअल रूप से इकट्ठा कर सकता है या मशीनों का इस्तेमाल कर सकता है जो कचरे और रेत को अलग कर सके|

Indranil and Rabia
Photo : atkt.in

दोनों ने कोली गाँव-वालों के लिए awareness campaigns भी conduct किए हैं, जो कि openly defecate करते हैं और समुद्र के नजदीक अपने कचरे को dump करते हैं। वो लोग उम्मीद करते हैं कि civic body कचरा लेने आएगी, लेकिन ऐसा शायद ही कभी होता है। तो आगे कभी dumping से बचने के लिए, couple ने उनके लिए bins install किए हैं।

Mumbai couple ने BMC से sea-meeting area में filtration system/mesh install करने के लिए भी कहा है।

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

Facebook Comments
(Visited 57 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: