Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. Masarat के इलाज़ के लिए धर्म नहीं मानवता को चुना इस कश्मीरी पंडित ने - Nek In India

Masarat के इलाज़ के लिए धर्म नहीं मानवता को चुना इस कश्मीरी पंडित ने

South Kashmir के ताकीया ड्रुबगम गांव की 25 साल की Masarat कई महीनों से bone marrow cancer से जूझ रही हैं। उनके treatment में उनके daily-wage labourer पति द्वारा कमाई पाई-पाई ख़त्म हो जाने के बाद से परिवार काफ़ी तकलीफ़ों से गुज़र रहा था|

उनके पति Mushtaq Ahmad Parray ने कहा कि वो एक daily-wage worker हैं| वो construction sites पर नौकरी करते हैं| उन्होनें जो भी पैसा बचाया था, उसे अपनी पत्नी के इलाज पर खर्च कर दिया है|

अपनी पत्नी के इलाज पर लाखों रुपये खर्च करने के बाद, जब Parray के पास पैसों की कमी हुई, तो दोस्तों की सलाह पर उन्होनें सोशल मीडिया पर donation के लिए अपील की। उनकी अपील कई लोगों तक पहुंची और कुवैत में एक कश्मीरी पंडित entrepreneur और philanthropist, Renu Bakshi ने भी इसे देखा। उन्होनें फेसबुक पर अपील देखी और परिवार की मदद करने का फैसला किया।

Mustaq Ahmad Parray
Photo : thenewsnow.com

Bakshi ने कहा कि जैसे ही उन्होनें Parray को सोशल मीडिया पर donation के लिए अपील करते हुए देखा, तो वो अपने आँसू नहीं रोक पाईं| उस अपील ने उन्हें अंदर तक झंकझोर दिया और उन्होनें तुरंत ही Parray के परिवार से मिलने का फैसला किया| उन्होनें ये भी कहा कि कश्मीरियों के पास मुश्किल समय में एक साथ खड़े होने की परंपरा है।

Bakshi अपनी बहन, चचेरे भाई और एक local journalist के साथ Parray से मिलने गयीं और उन्होनें इलाज के सभी खर्चों को bear करने की बात कही| उन्होनें उनके बेटे के सभी educational expenses को pay करने का फैसला भी किया है|

Bakshi ने कहा कि वो उनका best possible treatment कराने की कोशिश करेंगी और साथ ही उनके बेटे के सभी educational expenses भी bear करेंगी|

इन सब बातों से अंजान, Masarat का चार साल का बेटा अचानक आता है और उसकी गोद में बैठ जाता है। उसके सिर पर अपना हाथ रखते हुए Masarat ने कहा कि अल्लाह ने Bakshi को उनके बेटे को अनाथ बनने से बचाने के लिए भेजा है। ये कहते ही उसकी आंखों में आँसू आ गये|

बक्षी ने कहा कि दिल्ली prominent oncologists का एक group अगले हफ्ते कश्मीर जा रहा है और इलाज के लिए Masarat को दिल्ली जाने से पहले वह उनसे राय लेने की planning कर रही हैं| Parrey ने कहा कि जब Bakshi उनके घर आई तो वो हैरान थे| ये एक चमत्कार से कम नहीं था। वो उनके लिए आशा की किरण लाई हैं|

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

Facebook Comments
(Visited 40 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: