Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. विदेश मंत्रालय की नौकरी छोड़ Rajesh Kumar दे रहे हैं free education - Nek In India

विदेश मंत्रालय की नौकरी छोड़ Rajesh Kumar दे रहे हैं free education

शिक्षा समाज में हर किसी के लिए जरूरी है| अगर आप किसी की मदद करना चाहते हैं तो उसे तोहफे में शिक्षा दें| आज हम ऐसे ही शख्स Rajesh Kumar के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने शिक्षा के महत्व को समझा और बिहार के 300 घरों के बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रहे हैं|

बच्चों को शिक्षा देने और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाने के मिशन में लगे इस शख्स का नाम Rajesh Kumar Suman है| राजेश समस्तीपुर जिले के रोसड़ा स्थित ‘बीएसएस क्लब: नि:शुल्क शैक्षणिक संस्थान’ के फाउंडर हैं|

Rajesh Kumar Suman
Photo : biharlive.in

Rajesh Kumar की पढ़ाई समस्तीपुर यूनिवर्सिटी से हुई| पढ़ाई पूरी होने के बाद उनकी नौकरी विदेश मंत्रालय में लग गई| भले ही उनकी जिंदगी अच्छी चल रही थी, लेकिन वह हमेशा से ही गरीब बच्चों की पढ़ाई को लेकर चितिंत रहते थे| जिसके बाद उन्होंने बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने का फैसला किया| एक वेबसाइट के अनुसार वह गृह रोसड़ा के लिए कुछ करना चाहते थे, जो समस्तीपुर बिहार का एक पिछड़ा हुआ इलाका है| शिक्षा के स्तर में कमी होने के कारण इस इलाके के बच्चों को सही मार्गदर्शन नहीं मिल रहा था| वहीं शिक्षा की कमी के कारण यहां के होनहार बच्चे छोटा-मोटा काम करके अपनी जिंदगी गुजारने पर मजबूर हो गए थे|

Rajesh Kumar Suman
Photo : youtube.com

Rajesh Kumar ने समस्तीपुर में एक ऐसा इंस्टीट्यूट खोला जहाँ वो बच्चों को अलग-अलग competitions के लिए तैयार कर रहे हैं और उनका भविष्य संवार रहे हैं| साल 2008 में नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने ‘बीएसएस क्लब: नि:शुल्क शैक्षणिक संस्थान’ के नाम से इस इंस्टीट्यूट की शुरुआत की| Rajesh ने बताया कि समस्तीपुर में high education कम ही लोगों के पास है| वहीं जिन लोगों के पास high education है वो शहरों में रहकर ही अपना करियर बनाना रहे हैं| ऐसे में इस इलाके की स्थिति में कोई सुधार नहीं आ रहा है| इस इलाके की बिगड़ती हालत को देखते हुए उन्होनें ठान लिया था कि वो यहां के लोगों को शिक्षित करेंगे|

Rajesh Kumar Suman
Photo : dailybiharnews.in

Rajesh ने जब समस्तीपुर इलाके में पढ़ाना शुरू किया तब उनके पास सिर्फ़ 4 बच्चे थे| लेकिन धीरे -धीरे बच्चों की संख्या बढ़ती गई| उनके इंस्टीट्यूट का नाम धीरे-धीरे पूरे इलाके में फैलने लगा| आज Rajesh के इंस्टीट्यूट से करीब 300 बच्चे अलग-अलग competitions के लिए कोचिंग ले रहे हैं| वहीं यहां से ट्रेनिंग लिए हुए बच्चे अलग-अलग competitions में सफल भी हो रहे हैं| Rajesh अपने इंस्टीट्यूट में रेलवे, एसएससी, सेना और बिहार पुलिस विभाग की अलग-अलग posts के लिए बच्चों को ट्रेनिंग देते हैं, ताकि वह अपना भविष्य संवार सकें|

Rajesh Kumar
Photo : youtube.com

Rajesh Kumar के इंस्टीट्यूट में गरीबों, किसानों, शहीदों, विधवाओं और विकलांग के बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाती है| वो कहते हैं कि बिहार में काफी लोग फौज में हैं और देश की सेवा में लगे हुए हैं ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि हम उनके बच्चों को मुफ्त में एक बेहतर शिक्षा दें|

#NekInIndia

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

(Visited 43 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: