Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. Humanity Hospital बनाकर Subhashini Mistry बनीं पद्मा श्री - Nek In India

Humanity Hospital बनाकर Subhashini Mistry बनीं पद्मा श्री

विभिन्न क्षेत्रों में specific services और contribution के लिए दिए जाने वाले पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है| इसमें सामाजिक क्षेत्र में अच्छे कामों के लिए Subhashini Mistry का नाम भी पद्म श्री के लिए select किया गया है| पश्चिम बंगाल की रहने वाली Subhashini को पद्म श्री से सम्मानित किया जाएगा| वह एक ऐसी इंसान हैं, जिन्होंने खुद गरीबी में अपना जीवन काटकर लोगों की सेवा की है|

Subhashini Mistry
Photo : corporatebytes.in

कोलकाता की रहने वाली 75 साल की Subhashini Mistry गरीबों के लिए अस्पताल बनवाना चाहती थीं और आख़िरकार उन्होंने यह कर भी दिखाया| दिलचस्प बात ये है कि उन्होंने ये काम सब्जी बेचकर और जूते पॉलिश कर के पूरा किया है| सन् 1943 में बंगाल में अकाल पड़ने के वक़्त ही Subhashini का जन्म हुआ था| कम उम्र में ही 14 भाई-बहनों में से 7 की मौत हो गई थी और इसलिए जल्द ही उनकी शादी कर दी गई|

Subhashini Mistry
Photo : internet

1971 में Subhashini के पति की इलाज ना हो पाने की वज़ह से मौत हो गई और इसके बाद लाचार Subhashini के ऊपर चारों बच्चों की जिम्मेदारी आ गई| इसी घटना के बाद उन्होनें अस्पताल बनवाने की बात सोची| करीब बीस सालों तक एक -एक पाई जोड़कर 1992 में उन्होनें ने हंसपुकुर गांव लौटकर 10,000 रुपये में एक एकड़ जमीन खरीदी| उसके बाद उन्होनें एक temporary shed से अस्पताल की शुरुआत की और लाउडस्पीकर की मदद से शहर में डॉक्टर्स से social service की विनती की गई| पहले ही दिन यहां 252 मरीजों का इलाज हुआ और अब यह अस्पताल लगातार आगे बढ़ रहा है| अब यह अस्पताल, 9000 स्कवायर फीट तक बना दिया गया है|

Subhashini Mistry
Photo : newindianexpress.com

Subhashini Mistry, अब इस अस्पताल में 24 घंटे सुविधाएं देना चाहती है| इस  Humanity Hospital में गरीबों का फ्री में इलाज होता है और गरीबी रेखा के ऊपर के लोगों से 10 रुपए की फीस ली जाती है| लेकिन Subhashini कहती हैं कि जिस दिन ये अस्पताल सर्व-सुविधा संपन्न हो जाएगा, उस दिन उन्हें चैन मिलेगा|

#NekInIndia

(Visited 108 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: