Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. Chewang Norphhel ख़ास वज़ह से हैं The Ice Man of India - Nek In India

Chewang Norphhel ख़ास वज़ह से हैं The Ice Man of India

कुछ लोगों का मानना है कि angels का कोई चेहरा या आकार नहीं है, वो उन लोगों के लिए किसी भी रूप में आ सकते हैं, जिन्हें उनकी मदद चाहिए| Chewang Norphhel उनमें से एक हैं जिन्हें लोग ‘The Ice Man of India‘ के नाम से जानते हैं। Chewang न तो एक prominent scientist है और न ही एक high profiled industrialist हैं, लेकिन उन्होंने कुछ ऐसा किया है, जो कोई top industrialists या government officials भी नहीं कर पाए। लाखों विकास की झूठी आशाएँ देने के बजाय, उन्होंने लद्दाख के पानी संकट चुनौती के लिए कुछ करने की अपनी आशा में विश्वास बनाए रखा|

Chewang Norphhel

Chewang सिविल इंजीनियरिंग में एक डिप्लोमा होल्डर हैं और एक middle class family से हैं| वह 60 के दशक में एक सिविल इंजीनियर के पद पर जम्मू-कश्मीर में शामिल हो गए थे। इस काम से रिटायर होने के बाद, उन्होंने Leh Nutrition Project में भाग लिया। यह एक NGO है जो लद्दाख के अलग-अलग विकास के कामों को देखता है|

Norphel ने artificial glaciers बनाने का innovative idea दिया, ताकि ground water level बढ़ सके और agricultural और irrigation प्रॉजेक्ट्स के लिए पर्याप्त मात्रा में इसका इस्तेमाल हो सके| उनका दृढ़ विश्वास है कि agriculture भारत के सबसे महत्वपूर्ण features में से एक है और यह पानी और जल निकासी के मुद्दों की कमी जैसे बहाने से नहीं मारा जाना चाहिए।

Chewang Norphhel

Chewang Norphhel एक बार अपने घर के बाहर बैठे थे, जब उन्होंने अपने पानी के नल से पानी की एक छोटी सी धारा देखी, जो पेड़ों की छाया के नीचे ठोस बर्फ में बदल गयी| कुछ ही समय में, उस पूल का पानी जमे हुए बर्फ की शीट बन गया। पेड़ों वाली जगह जहां पानी जमा हुआ था को छोड़कर, पानी यार्ड के आसपास के अन्य हिस्सों में आराम से बह गया| यही वह वक़्त था जब उन्हें लगा कि पेड़ों के नीचे रुके हुए पानी से जल्दी, बहने वाला पानी बर्फ़ बनता है। उन्होंने artificial glaciers बनाए और घाटी में नदी की मदद से इन्हें शुरू कर दिया।

Chewang Norphhel

गर्मियों में ये glaciers एक point आने पर पिघल जाते हैं और कम उँचाई वाली जगहों पर पर्याप्त पानी पहुँचाकर irrigation process में मदद करते हैं| Chewang द्वारा बनाए गये ग्लेशियरों में से सबसे बड़ा ग्लेशियर Phuktsey गांव में बहता है। इस ग्लेशियर का size 1,000 फीट लंबा, 4 फीट गहरा और 150 फुट चौड़ा है| इसका मतलब है कि यह लगभग 700 गाँववालों को केवल 90000/- रुपये की भारतीय लागत से पानी की आपूर्ति कर सकता है। इसी तरह, नोर्फल ने 2012 तक 12 कृत्रिम ग्लेशियरों को सफलतापूर्वक बना लिया है और वह गांवों के विकास के साथ-साथ वहां रहने वाले लोगों के लिए भी ऐसा कर रहे हैं|

Chewang Norphhel
Photo : viralindiandiary.com

Chewang Norphhel ने लद्दाख में अपने परिवार के लिए कुछ करने के लिए ये पहल की। वह पूरे गांव को अपनी mother town मानते हैं और लद्दाख के लिए हमेशा कुछ अच्छा करना चाहते हैं।

#NekInIndia

Facebook Comments
(Visited 69 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: