Nek In India - Positive News, Happy Stories and Inspiring People. भूखे लोगों को feed करने के लिए Narayanan Krishnan ने छोड़ी अपनी job - Nek In India

भूखे लोगों को feed करने के लिए Narayanan Krishnan ने छोड़ी अपनी job

दुनिया को बदलने की बात तो आज सब लोग करते हैं, लेकिन खुद को बदलकर दुनिया को कैसे बदलते हैं ये कुछ लोग ही जानते हैं| इसका एक बहुत ही अच्छा उधारण हैं Narayanan Krishnan, जो 10 साल से भी ज़्यादा समय से कुछ नहीं बल्कि हज़ारों ग़रीब, बेघर-बेसहारा और mentally-ill लोगों की ज़िंदीगियाँ बदल रहे हैं|

Narayanan Krishnan
Photo : thenewsminute.com

Narayanan Krishnan एक social worker और philanthropist हैं, जो कि CNN Heroes of the Year 2010 बनने की वज़ह से बहुत famous हैं| Service और compassion से भरे Narayanan, Akshaya Trust के founder और current head हैं, जो कि एक non-profit organization है और homeless, poor और mentally ill लोगों का ख़याल रखती है, उन्हें free haircut और रहने के लिए घर देती है ताकि उन्हें रास्तों पर ना रहना पड़े|

Narayanan Krishnan
Photo : amazingindiablog.in

Narayanan की ज़िंदगी extraordinary और inspirational इसलिए है क्यूंकी उन्होनें जिस तरीके से अपनी organization शुरू करी| एक successful chef के लिए शायद ये बदनामी होती, लेकिन फिर भी उन्होनें ये सब छोड़कर वो किया जो काम उन्हें खुश रखता था, यानी कि ग़रीब और भूखे लोगों की मदद| अपने successful career को छोड़ते वक़्त उनपर बहुत pressure रहा, लेकिन ये बातें उन्हें लोगों की मदद करने से नहीं रोक सकीं|

Narayanan Krishnan
Photo : huffingtonpost.com

Narayanan की एक और inspiring बात है कि वह कभी किसी और का इंतज़ार नहीं करते लोगों की मदद करते वक़्त, जब वह किसी को मदद की ज़रूरत सोचते हैं तो खुद आगे बड़ जाते हैं| अक्सर लोग philanthropic काम में खुद मदद करने की बजाए दूसरों का इंतज़ार करते हैं, लेकिन Narayanan नहीं|

Narayanan Krishnan
Photo : staticflickr.com

Narayanan अपनी सफ़लता और उपलब्धियों की वज़ह से अपना नेक काम करना कभी नहीं छोड़ते हैं| बल्कि इतनी सफलताएँ उन्हें हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती हैं| उन्हें पता है कि अपनी पूरी ज़िंदगी में वह हर जगह हर इंसान की मदद नहीं कर सकते लेकिन वह संतुष्ट हैं कि जीतने लोगों की हो सके वह मदद कर रहे हैं| लोगों की मदद करना ही उन्हें खुशी देता है और इसलिए वह कभी इस काम से नहीं थकते|

(Visited 60 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

SuperWebTricks Loading...
%d bloggers like this: